रजनीकांत की जीवनी | Rajnikant Biography in Hindi

रजनीकांत की जीवनी | Rajnikant Biography in Hindi

रजनीकांत भारतीय सिनेमा में सबसे प्रभावशाली फिल्म कलाकारों में से एक है।रजनीकांत का जन्म कर्नाटक के एक मराठा परिवार में शिवाजी राव गायकवाड़ के रूप में हुआ था। रजनीकांत ने अपनी छोटी उम्र में बहुत कुछ संघर्ष किया।रजनीकांत ने कुल 190 फिल्मों में अभिनय किया है जिसमें तमिल, कन्नड़, तेलगु, मलयालम, हिंदी, अंग्रेजी और बंगाली फिल्म शामिल हैं।जैकी चैन के बाद रजनीकांत एशिया में सबसे ज्यादा भुगतान करने वाले अभिनेता हैं।

राजनीतंत ने अपने अभिनय करियर को पौराणिक कन्नड़ नाटकों के साथ शुरू किया। फिल्मो में डायलॉग बोलने का रजनीकांत का अपना ही एक अलग अंदाज़ है, देश ही नही बल्कि विदेशो में भी लोग उनकी आवाज़ और उनके स्टाइल के दीवाने है।

सन् 2000 में भारत सरकार ने उन्हें पद्म भुषण से सम्मानित किया था और 2016 में पद्म विभूषण से सम्मानित किया था। 2014 में हुए 45 वे भारतीय अंतर्राष्ट्रीय फ़िल्म फेस्टिवल में उन्हें इंडियन फ़िल्म पर्सनालिटी ऑफ़ द इयर का सम्मान दिया गया था।

रजनीकांत को साउथ इंडस्ट्री का सुपरस्टार कहा जाता है। वहां के लोग उन्हें भगवान का दर्जा भी देते हैं लेकिन दिलचस्प बात ये है की वो असल में खुद साउथ इंडियन है ही नहीं। रजनीकांत असल में महाराष्ट्रियन हैं।

एक कंडक्टर के तौर पर भी उनका अंदाज़ किसी स्टार से कम नहीं था। वो अपनी अलग तरह से टिकट काटने और सीटी मारने की शैली को लेकर यात्रियों और दुसरे बस कंडक्टरों के बीच विख्यात थे।कई मंचों पर नाटक करने के कारण फिल्मों और एक्टिंग के लिए शौक तो हमेशा से ही था और वही शौक धीरे धीरे जुनून में तब्दील हो गया। लिहाज़ा उन्होंने अपना काम छोड़ कर चेन्नई की एडियार फिल्म इंस्टीट्यूट में दाखिला ले लिया। वहां इंस्टिट्यूट में एक नाटक के दौरान उस समय के मशहूर फिल्म निर्देशक के. बालाचंदर की नज़र रजनीकांत पर पड़ी और वो रजनीकांत से इतना प्रभावित हुए कि वहीँ उन्हें अपनी फिल्म में एक चरित्र निभाने का प्रस्ताव दे डाला। फिल्म का नाम था अपूर्व रागांगल। रजनीकांत की ये पहली फिल्म थी पर किरदार बेहद छोटा होने के कारण उन्हें वो पहचान नहीं मिल पाई, जिसके वे योग्य थे। लेकिन उनकी एक्टिंग की तारीफ़ हर उस इंसान ने की जिसकी नज़र उन पर पड़ी।

वर्ष 2002 में, उन्होंने कावेरी नदी से तमिलनाडु में पानी नहीं छोड़े जाने पर कर्नाटक सरकार के निर्णय का विरोध करते हुए एक दिन की भूख हड़ताल की। इसके अलावा वर्ष 2008 में, उन्होंने अन्य तमिल फिल्म हस्तियों के साथ मिलकर एक दिन की भूख हड़ताल की, जिसमें उनकी मांग थी कि श्रीलंका सरकार को गृहयुद्ध समाप्त करना चाहिए और श्रीलंका के तमिलों को उनका अधिकार देना चाहिए।

Early Life (प्रारंभिक जीवन)

रजनीकांत का जन्म 12 दिसंबर 1 9 50 को बैंगलोर के एक मराठा परिवार में हुआ था।  रजनीकांत के पिता का नाम रामोजी राव था और उनकी मां का नाम जिजाबाई था।  रजनीकांत के  2 भाई और एक बहन है। रजनीकांत के भाई का नाम सतीनारायण राव गायकवाड़  और नागेश्वर राव गायकवाड़  है। जनीकांत बहन का नाम Aswath है।

6 साल की उम्र में रजनी को गविपुरम गवर्नमेंट कन्नड़ मॉडल प्राइमरी स्कूल में डाला गया जहा उन्होंने प्रारंभिक शिक्षा ग्रहण की। बचपन से ही वे काफी होशियार थे और क्रिकेट, फुटबॉल और बास्केटबॉल में काफी रूचि थी। उसी समय उनके भाई ने उन्हें रामकृष्ण मठ में डलवाया था। मठ में उन्होंने वेद, भारतीय इतिहास का अभ्यास भी किया जिससे उनके अंदर आध्यात्मिकता का संचार हुआ। मठ में एक बार महाभारत का नाटक करते समय वे एकलव्य के दोस्त बने थे।

इससे पहले, रजनीकांत का जीवन एक संघर्षपूर्ण जीवन था।  रजनीकांत  कुली, कारपेंटर और बस कंडक्टर के रूप में भी काम किया। रजनीकांत ने 26 फरवरी 1 9 81 को आंध्र प्रदेश के तिरुपति में लता रंगछारी से शादी की। राजनीतंत की ऐश्वर्य रजनीकांत और सैंडारी रजनीकांत नाम की दो बेटियां हैं। उनकी बेटी ऐश्वर्या रजनीकांत ने अभिनेता धनुष से शादी की है,  सैंडारी ने उद्योगपति अश्विन रामकुमार से शादी की है।

Career (व्यवसाय)

रजनीकांत ने 1 9 75 में तमिल फिल्म अपूर्व रागंगल के साथ अपनी शुरुआत की।1 9 80 तक, वह दक्षिण भारतीय फिल्मों में एक सुपरस्टार बन गए हालांकि, तमिल, तेलगू, और कन्नड़ फिल्मों के अलावा, उन्होंने कुछ बॉलीवुड और बंगाली फिल्मों के साथ  किया।

रजनीकांत एक भारतीय अभिनेता हैं, जो तमिल सिनेमा में मुख्य रूप से 150 से अधिक फिल्मों में आये हैं।  उन्होंने एक प्रमुख अभिनेता के स्नातक होने से पहले विरोधी और सहायक भूमिका निभाने के द्वारा अपना फिल्म कैरियर शुरू किया।  1 9 80 और 1 99 0 के दौरान कई व्यावसायिक रूप से सफल फिल्मों में अभिनीत होने के बाद, उन्होंने तमिलनाडु की लोकप्रिय संस्कृति में एक मातृत्व मूर्ति का दर्जा जारी रखा है।

रजनीकांत ने अन्य भारतीय फिल्म उद्योगों जैसे बॉलीवुड, तेलुगु, कन्नड़, मलयालम और बंगाली में भी काम किया है। रजनीकांत न केवल तमिल फिल्मो की वजह से जाने जाते है परन्तु उन्होंने साउथ की कई भाषाओँ में जैसे मलयालम और कन्नड़ भाषा की फिल्मो में भी काम किया है । 1983 में उन्होंने अपनी पहली बॉलीवुड फिल्म ‘ अँधा कानून ’ में हेमा मालिनी और अमिताभ बच्चन के साथ काम किया ।

रजनीकांत की मशहूर फिल्म चंद्रमुखी की, जर्मन में डब की गई और उन जगहों पर जारी किया गया जहां लोग जर्मन भाषा बोलते हैं।उनकी फिल्म मुथु को जापानी में डब किया गया था और बाद में देश में एक बड़ी हिट बनने के लिए निकला,

चंद्रमुखी की रिलीज होने के बाद, यह बताया गया कि एवीएम प्रोडक्शंस रजनीकांत की भूमिका निभाने वाले एस। शंकर द्वारा निर्देशित एक फिल्म का निर्माण करना था, जो अभी तक एक तमिल फिल्म के लिए सबसे बड़ी सहयोग है। फिल्म का नाम शिवाजी: द बॉस था और दो साल के फिल्मांकन और सूक्ष्म उत्पादन के बाद 15 जून, 2007 को रिलीज़ किया गया।शिवाजी ने निर्देशक शंकर के साथ राजनीति की पहली फिल्म थी, और यूनाइटेड किंगडम और दक्षिण अफ्रीका में बॉक्स ऑफिस पर शीर्ष स्थान पाने वाली पहली तमिल फिल्म थी।

रजनीकांत ने व्यावसायिक रूप से सफल फिल्मों में अभिनय किया जैसे कि Naan Sigappu Manithan (1 9 85), ‘Padikkathavan (1 9 85),  Mr. Bharath (1 9 86), Velaikaran(1 9 87), Guru Sishyan (1 9 88) और Dharmathin Thalaivan (1988)। 1 9 88 में, उन्होंने डब्लैट लिटल द्वारा निर्देशित ब्लडस्टोन में अपनी एकमात्र अमेरिकी फ़िल्म प्रस्तुति दी, जिसमें उन्होंने एक अंग्रेजी बोलने वाला भारतीय टैक्सी चालक काम किया था।रजनीकांत ने कई हिट फिल्में दी हैं उनकी कुछ फिल्में- रोबोट,शिवाजी ,बाबा,वीरा,बुलन्दी,चालबाज़, फूल बने अंगारे, किशन कन्हैया ।

सुपरस्टार रजनी का क्रेज लोगों में इतना ज्यादा है की वहां की सरकार ने चेन्नई और बैंगलूरू में कबाली के रिलीज़ के दिन छुट्टी घोषित कर दी। यहाँ तक की वहाँ के कई प्राइवेट ऑफिस में भी छुट्टी दी गयी और फिल्म के टिकट भी बाटें गए। रजनीकांत इंडियन फिल्म इंडस्ट्री के साथ-साथ हॉलीवुड फिल्म में भी काम कर चुके हैं और इसके बारे में कोई नहीं जानता। 1988 में आई हॉलीवुड फिल्म ‘ब्लडस्टोन’ में उन्होंने महत्वपूर्ण किरदार निभाया था। 1 9 85 में, राजनीतंत ने 100 फिल्में पूरी कीं और फिल्म ‘श्री संत राघवेंद्र’  में  हिंदू संत  की भूमिका निभाई।
  

Awards(पुरस्कार)

-1984 में सर्वश्रेष्ठ तमिल अभिनेता के लिए फिल्मफेयर अवॉर्ड
-छः तमिल नाडू राज्य फिल्म पुरस्कार
-सिनेमा एक्सप्रेस और फिल्मफंस एसोसिएशन के लिए ऑन-स्क्रीन प्रदर्शन और ऑफ-स्क्रीन योगदान के लिखित और -उत्पादन में पुरस्कार
-1984 में कललाईमनी पुरस्कार
-1989 में एम जी आर पुरस्कार
-1 99 5 में क्लासिकम पुरस्कार
-भारतीय सिनेमा में उत्कृष्टता के लिए शेवेलियर शिवाजी गणेशन पुरस्कार
-2000 में पद्म भूषण प्राप्त
-2014 में भारतीय फिल्म पर्सनेलिटी ऑफ द इयर के शताब्दी पुरस्कार
-2016 में पद्म विभूषण,

मुस्कान इंडियन दिलवाले टीम की यूट्यूब टीम की हेड हैं। इन्हे बॉलीवुड से संबंधित लेख लिखना अच्छा लगता हैं। इन्हे लिखने के साथ एक्टिंग का भी हुनर हैं।

Muskan

मुस्कान इंडियन दिलवाले टीम की यूट्यूब टीम की हेड हैं। इन्हे बॉलीवुड से संबंधित लेख लिखना अच्छा लगता हैं। इन्हे लिखने के साथ एक्टिंग का भी हुनर हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *