सपनों का मतलब |Meaning of Dream Hindi

 

Meaning of Dream in Hindi

जागृत अवस्था में संस्कारों से उत्पन्न सविषय ज्ञानावस्था का नाम ‘स्वप्न’ है। ऐसा भारतीय मत है। भारतीय आचार्यों ने स्वप्न को चार भागों में विभाजित किया है:

  • दैनिक कार्यों की सूचना देने वाले
  • शुभ फलदायक स्वप्न
  • अशुभ फलदायक स्वप्न
  • शुभ और अशुभ नियंत्रित स्वप्न

दैनिक कार्यों की सूचना देने वाले स्वप्न तत्काल फलदायक माने जाते हैं। रात्रि के प्रथम प्रहर में अर्थात सोते समय तुरंत स्वप्न देखने पर उसका फल एक वर्ष में प्राप्त होता है। दूसरे प्रहर में देखा गया स्वप्न छह मास में तथा तीसरे प्रहर में देखा गया स्वप्न तीन मास में अपना फल दिखाता है। वहीं प्रात:काल देखा गया स्वप्न शीघ्र फलदायी होता है। यदि इनके बीच कोई दूसरा स्वप्न नहीं देखा गया तो उसका फल अवश्य प्राप्त होता है। यदि उस स्वप्न के फल को समाप्त करने वाला कोई दूसरा स्वप्न उस अवधि में देखा जाए तो फल मिश्रित होता है।

सोते वक्‍त आप हर रोज कुछ न कुछ सपने में जरूर देखते होंगे। कभी चूहा तो कभी बिल्‍ली, कभी समुद्र तो कभी लड़की, कभी सांप तो कभी कुत्‍ता। कुछ न कुछ आपको सपने में जरूर दिखता होगा। आप उस सपने को सपने की तरह देख आगे बढ़ जाते हैं। क्‍या कभी आपने सोचा है, कि इन सपनों का भी आपके जीवन में बड़ा महत्‍व है।

हर सपना कुछ कहता है। कुछ सपने उदासी देते हैं, तो कुछ जीवन में खुशियों की लहर भर देते हैं। सपनों का संबंध आत्मा से होता है। जब व्यक्ति नींद में होता है, तब उसका शरीर आत्मा से अलग होता है, क्योंकि आत्मा कभी सोती नहीं। उसकी पाँचों ज्ञानेंद्रियाँ उसका मन और उसकी पाँचों कर्मेंद्रियाँ अपनी-अपनी क्रियाएँ करनी बंद कर देती हैं और व्यक्ति का मस्तिष्क पूरी तरह शांत रहता है। उस अवस्था में व्यक्ति को एक अनुभव होता है, जो उसके जीवन से जुड़ा होता है। उसी अनुभव को सपना कहा जाता है। सपने में चौंकाने वाली खोजें और आविष्कार हुए हैं। यहां तक कि लोगों के भाग्य बदल गए हैं। हमें भी कई बार सपने में कोई संकेत मिलता है, लेकिन हम उसे समझ नहीं पाते।

कई बार आपको याद रहता है कि आज आपने सपने में क्या देखा और कई बार भूल जाते हैं। अगर याद रहता है, तो एक बार देखें कि आज आपने जो सपने में देखा था, उसके बाद आपके जीवन में क्या खास हुआ। आपको ज्योतिष की इस विधा पर जरूर यकीन हो जायेगा।

यदि आपको सपना याद नहीं रहता है तो उसके लिये आपको सिर्फ एक काम करना है। जैसे ही आपकी आंख खुले, बस मन में दो बातें सोचिये, “मैं कहां हूं और मैं क्या कर रहा ?” बस फिर आप अपना सपना भूल नहीं सकते।

हिंदू धर्म शास्त्रों में कई ऐसे संकेत बताये गए हैं जिसके द्वारा आप इस बात का अंदाजा लगा सकते हैं आपने जो सपने मैं देखा है उससे आपका समय कैसा हो सकता है

मछली देखना – घर में शुभ कार्य हो सकता है

माँस खाते हुए देखना – चोट लग सकती है

अपने आपको मार खाते हुए देखना – फेल हो जाना

हवा में उड़ते देखना – यात्रा पर जा सकते हो

हाथ-पैर धोते हुए देखना – सारी चिंताएँ मिट सकती है

किसी दुल्हन का चुंबन लेता हुआ देखना – शत्रुओं के साथ समझौता होना

सर्प पकड़ना – किसी काम मैं सफलता प्राप्त हो सकती है

स्वप्न में दाढ़ी बनाते हुए देखना – दाम्पत्य जीवन की कठिनाई समाप्त हो सकती है

बड़े-बूढ़े का आशीर्वाद मिलना – मान सम्मान व प्रतिष्ठा प्राप्त होना

गर्दन अकड़ जाना – धन की प्राप्ति होना

अपने को दूध पीता देखना – इज्जत मिलना

अपने को पानी पीते हुए देखना – भाग्य उदय

कुत्ता काटना, कुत्ता पालना – संकट आना

अपना विवाह होता देखना – परेशानी आ सकती है

मांग भरते देखना – कोई शुभ कार्य होना

दर्पण देखना – मन विचलित रह सकता है

रेल में चढ़ना देखना – यात्रा होना

पैर फिसल कर गिर जाना – अवनति होना

गऊ मिलना – भूमि लाभ होना

घोड़े से गिरता हुआ देखना – पद छूटना

घोड़े पर चढ़ता हुआ देखना – पद लाभ होना

अपने आपको मरता हुआ देखना – सारी चिंताएँ मिट जाना।

सौभाग्यसूचक स्वप्न

  • स्वप्न में कोई मधुर संगीत सुने तो उसे अधिक लाभ होता है।
  • नए वस्त्र पहने देखने से सौभाग्य में वृद्धि होती है।
  • स्वयं को पागल देखने से इच्छाशक्ति और सामाजिक प्रतिष्ठा में वृद्धि होती है।
  • पेट दर्द का अनुभव हो तो स्वास्थ्य संबंधी तकलीफ दूर होती है।
  • यदि आप किसी अपराध में मुकद्दमा चलते देखें तो आपको बहुत धन-सम्पति विरासत में प्राप्त होगी।
  • लेखक यदि देखे कि प्रकाशक ने उसकी रचना अस्वीकृत कर दी है तो शीघ्र ही उसका प्रकाशन होगा।
  • जुड़वां बच्चे देखने पर आकस्मिक धन लाभ होगा।
  • पौधे, वृक्ष, खिलते हुए फूल दिखें तो व्यापार-व्यवसाय में लाभ होता है।
  • स्वयं को डिब्बा खोलते देखें तो मानसिक चिंता दूर होती है और धन लाभ होता है।
  • जूते पहनते हुए देखना व्यापार, व्यवसाय में लाभ तथा नौकरी में तरक्की का सूचक है।
  • पशुओं को चरते हुए देखने से उस समस्या का निवारण होगा जिसके लिए आप बहुत चिंतित हैं।
  • शमशान भूमि देखें तो घरेलू एवं व्यावसायिक कठिनाइयां दूर होती हैं।
  • एक सिगरेट से दूसरी सिगरेट जलाते देखें तो आर्थिक स्थिति में सुधार होता है।
  • पुराना या फटा हुआ कपड़ा स्वयं को पहने देखना सफलता का परिचायक है।
  • स्वयं को संकट में देखना सफलता प्राप्त करने का परिचायक है।
  • हाथी देखने से पारिवारिक सुख प्राप्त होता है।
  • स्वप्न में घोड़ा, शेर, बर्र, चूहा आदि देखना भी शुभ संकेत है।

दुर्भाग्यसूचक स्वप्न

  • यदि आप सपने में स्वयं को कहीं भागते हुए तथा छिपने का स्थान ढूंढते हुए देखें तो किसी के द्वारा धोखा प्राप्त होगा।
  • स्वयं को दुर्घटनाग्रस्त देखने से स्वास्थ्य संबंधी तकलीफ का सामना करना पड़ सकता है।
  • खुद को विदेश में देखने पर परिस्थितियों में हानिकारक परिवर्तन होने की संभावना रहती है।
  • स्वयं को दुखी या परेशान देखने पर आर्थिक संकट का सामना करना पड़ता है।
  • स्वयं को अपमानित देखने पर उस व्यक्ति से झगड़ा होने की संभावना रहती है, जिससे आपका व्यावसायिक संबंध है।
  • युद्ध स्थल में देखने पर पड़ोसियों या संबंधियों से अनबन होती है।
  • काले वस्त्र पहने देखना परिवार में बीमारी के आने का परिचायक है।
  • शरीर के किसी भाग में रक्त प्रवाह होते देखना किसी लम्बी बीमारी का सूचक है।
  • बैल, भौंकते कुत्ते, खरगोश, बाज़ आदि देखना आने वाले समय में भय, चिंता, शत्रु-पीड़ा, स्वास्थ्य संबंधी तकलीफ

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *