आयुष्मान भारत | Ayushman Bharat in hindi

 आयुष्मान भारत | Ayushman bharat medical insurance in hindi

आयुष्मान भारत : योजना का फायदा आपको मिलेगा या नहीं, तो इसके लिए सबसे पहले आपको सरकार की वेबसाइट mera.pmjay.gov.in पर लॉग इन करना होगा। लॉग इन करते ही आपको होम पेज पर अपना मोबाइल नंबर दर्ज करने को कहा जाएगा। उसके ठीक नीचे आपको कैप्चा दिखाई देगा, जिसमें दिए गए नंबरों को आपको खाली बॉक्स में भरना होगा।

केंद्र सरकार की महत्वाकांक्षी योजना आयुष्मान भारत आज देशभर में लागू हो गई है । केंद्र सरकार की इस योजना के तहत देशभर में 10 करोड़ परिवारों के 50 करोड़ लोगों को प्रतिवर्ष 5 लाख रुपये तक का नि:शुल्क इलाज प्रदान किया जाएगा.

आयुष्मान भारत  योजना के मुख्य बिंदु  |Key Features Of The Ayushman Bharat Yojana Scheme

कुल बीमा राशि

इस योजना के द्वारा एक परिवार को एक साल में 5 लाख रुपय तक की सहायता दी जाएगी, जिसे जरूरतमंद व्यक्ति विकट परिस्थिति में उपयोग कर पायेगा.

 योजना के लिए पात्रता  |Eligibility Criteria for Ayushman bharat

2011 के सामाजिक-आर्थिक और जाति जनगणना में गरीब के तौर पर चिह्नित किए गए सभी लोगों को इसके लिए पात्र माना गया है। इसका मतलब यह भी है कि अगर कोई शख्स 2011 के बाद गरीब हुआ है तो वह इसके फायदे से वंचित हो जाएगा। बीमा कवर के लिए उम्र की भी बाध्यता नहीं रहेगी, न ही परिवार के आकार को लेकर कोई बंदिश है। इसका मकसद सभी गरीबों को हेल्थ प्रोग्राम से जोड़ना है।

कितने परिवार लाभार्थी होंगे ?
इस स्कीम के तहत 10.74 करोड़ परिवारों के करीब 50 करोड़ लोग लाभार्थी होंगे। इनमें से करीब 8 करोड़ ग्रामीण परिवार हैं तो करीब 2.4 करोड़ शहरी परिवार हैं। इस तरह देश की करीब 40 प्रतिशत आबादी को इसके तहत मेडिकल कवर मिल जाएगा। लाभार्थी परिवार पैनल में शामिल सरकारी या निजी अस्पताल में प्रति साल 5 लाख रुपये तक का कैशलेस इलाज करा सकेंगे। इसके तहत इलाज पूरी तरह कैशलेस होगा। इस स्कीम की शुरुआत के साथ ही देश के 10,000 सरकारी और निजी अस्पतालों में गरीबों के लिए 2.65 लाख बेड की सुविधा उपलब्ध हो जाएगी।

इस योजना पर होने वाले खर्च को केंद्र और राज्य सरकारें मिलकर उठाएंगी। PMJAY पर आने वाले खर्च का 60 प्रतिशत केंद्र सरकार वहन करेगी और 40 प्रतिशत भार राज्य सरकारों पर पड़ेगा। मौजूदा वित्त वर्ष में इस योजना की वजह से केंद्र पर 3,500 करोड़ का भार पड़ने का अनुमान है। 2018-19 के बजट में केंद्र इस मद में 2,000 करोड़ रुपये की टोकन मनी उपलब्ध करा चुका है।

Live Updates:

– पीएम ने कहा, एशियन गेम्स 2018 में गोल्ड मेडल जीतने वाले ज्यादातर खिलाड़ी गरीब परिवार और गांव से हैं लेकिन उन्होंने देश को प्रतिष्ठा दिलाई है।

– प्रधानमंत्री ने कहा, जब से देश आजाद हुआ ‘गरीबी हटाओ’ के नारे हम सुनते आये। गरीबों के नाम पर राजनीति करने के बजाय गरीबों के सशक्तिकरण पर बल देते तो देश आज हिंदुस्तान देख रहा है वैसा नहीं होता।

– पीएम मोदी ने कहा, मैं चाहता हूं कि मेरे देश के नागरिक को अस्पताल जाने की जरुरत ना पड़े लेकिन यदि आप जाते हैं तो आयुष्मान भारत आपकी सेवा के लिए तैयार है।

– पीएम ने कहा, आयुष्मान भारत योजना से दो महापुरुषों का नाता जुड़ा है। अप्रैल में जब योजना के पहले चरण शुरु हुआ था तो उस दिन बाबा साहेब अंबेडकर का जन्मदिन था। अब इसी कड़ी में, प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना, दीन दयाल उपाध्याय जी के जन्मदिवस से दो दिन पहले शुरु हुई है।

– प्रधानमंत्री ने कहा, आयुष्मान भारत योजना भारत को भविष्य में मेडिकल हब में बदल देगी। देशभर के 450 जिलों में योजना होगी लागू।

– पीएम मोदी ने कहा, अगर आप अमेरिका, कनाडा और मैक्सिको, इन तीनों देशों की आबादी को भी जोड़ दें तो उनकी कुल संख्या इस योजना के लाभार्थियों की संख्या के करीब ही होगी। मुझे पूरा विश्वास है कि आने वाले दिनों में, मेडिकल क्षेत्र में काम करने वाले लोग इस स्वास्थ्य बीमा के आधार पर नई योजनाएं लेकर आएंगे।

– पीएम ने कहा, देश के 50 करोड़ से ज्यादा भाई-बहनों को 5 लाख रुपए तक का हेल्थ-एश्योरेंस देने वाली ये दुनिया की सबसे बड़ी योजना है। पूरी दुनिया में सरकारी पैसे से इतनी बड़ी योजना किसी और देश में नहीं चल रही है। इस योजना के लाभार्थियों की संख्या पूरे यूरोपियन यूनियन की कुल आबादी के बराबर है।

– प्रधानमंत्री ने कहा, पूरी दुनिया में सरकारी रुपये से इतनी बड़ी योजना किसी भी देश में दुनिया में नहीं चल रही है।

– पीएम मोदी ने कहा, समाज की आखिरी पंक्ति में खड़े व्यक्ति को, गरीब से भी गरीब को इलाज मिले, स्वास्थ्य की बेहतर सुविधा मिले, आज इस विजन के साथ बहुत बड़ा कदम उठाया गया है। आयुष्मान भारत के संकल्प के साथ, प्रधान मंत्री जन आरोग्य योजना आज से लागू हो रही है।

– प्रधानमंत्री जन औषधि योजना के लाभार्थियों को पीएम मोदी ई-हेल्थ कार्ड वितरित कर रहे हैं।

– पीएम मोदी ने प्रधानमंत्री जन-आरोग्य योजना-आयुष्मान भारत का उद्घाटन किया।

– पीएम मोदी ने 10 स्वास्थ्य और कल्याण केंद्र का शुभांरभ किया। जल्द ही वह जन आरोग्य योजना- आयुष्मान भारत को लांच करेंगे।

 

किन राज्यों में फिलहाल लागू नहीं?
दिल्ली, पश्चिम बंगाल, ओडिशा, केरल, तेलंगाना और पंजाब ने अभी इस योजना के लिए केंद्र के साथ मेमोरेंडम ऑफ अंडरस्टैडिंग (MoU) पर दस्तखत नहीं किए हैं। ये राज्य इसी तरह की खुद की योजना चाहते हैं, कुछ में पहले से ही इस तरह की योजना चल रही है।

Punit

Punit

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *